Best tips to daily increase your Remember power

 Increase your Remember power 

आज कल के जमाने में हमे अपने remember यानी स्मरण शक्ति को बड़ाने की काफी जरूरत हो गई है, स्मरण शक्ति हमे अपने करियर को बनाने के लिए और अपने निजी कामों को याद रखने के लिए, बहुत जरूरी है।

 कई बार ऐसा होता है की, हम अपने कामों को भूल जाते है, और इससे हमे ही नुकसान होता है, ये सब हमारी स्मरण शक्ति के कारण होता है, और भी कई चीज़ जैसे पढ़ाई को याद न रख पाना, अपने बेस्ट फ्रेंड के बेस्ट डे को भूल जाना, या किसी खास दिन को भूल जाना, और कभी कभी अपने ही काम को याद न रख पाना, ये सब हमारी स्मरण शक्ति के वीकनेस के कारण होता है। 

आज हम इन सभी kamiyo को दूर करने के लिए डेली रूटीन में कुछ ऐसे टिप्स जोड़ने के लिए कहने वाले जो आपको इन सभी भूलने की बीमारी जिसे हम स्मरण शक्ति का कमजोर होना कहते है। उन सभी को ठीक करने के टिप्स बताएंगे। ऐसे ही खास पोस्ट देखने के लिए हमारे और रिलेटेड पोस्ट देख सकते है इसमें आपको बेहद रोचक रोचक पोस्ट पढ़ने को मिलेगी।

1. मेडिटेशन 

आप सोचते होंगे की मेडिटेशन तो एक योग का हिस्सा है सही भी है। लेकिन मेडिटेशन जितना आपको योग के लिए अनिवार्य है उससे ज्यादा आपके स्मरण शक्ति को मजबूत करने का पहला शानदार टिप्स बन जाता है। 

                                सुबह सुबह जब आप खुली वादियों में सास लेते होंगे तो आपको बहुत अच्छा महसूस होता होगा उसी तरह ये मेडिटेशन भी खुली वादियों में जब आप एक सीधा में बैठ के एक लंबी गहरी सांस लेते है और फिर अपने मेडिटेशन को पूरा करने के लिए आखें बंद करके 10 से 15 मिनट जब हम इसे पूरा करते है तो ये हमारी बॉडी के स्मरण शक्ति को increase कर देती है।

 ये काम 3 दिनों तक करने के बाद आपको अपने स्मरण पावर में increas होते दिखाई देने लगेगा। ये मेडिटेशन की क्रिया रोजाना कम से कम 7 दिनों तक जब आप करते है तो तो आपको एक अलग सी शांति का आभास होगा जो आपको एक सही सोच विचार करने की भी शक्ति देगा ये और आप अपने भूलने की बीमारी से भी काफी हद तक छुटकारा पाएंगे।

2. डायरी लिखना 

आप सोच रहे होंगे की भला डायरी लिखने से कैसे स्मरण शक्ति बढ़ेगी। लेकिन ये सच ही नही proved भी है। महान साइंटिस्ट अल्बर्ट आइंस्टीन को भूलने की बीमारी थी वे आपने फोन नंबर तक याद नही रख पाते थे। उन्हें भूलने की बहुत बड़ी बीमारी थी वे अपने दोस्तों के नेम भी याद नहीं रख पाते थे। तब उन्होंने एक डायरी ली और 

अपने दिन भर के प्रयोग को और दिन भर में किया गया कार्य या खाने पीने की विशेष चीजों को एक लेख द्वारा लिख दिया करने लगे इससे उसकी यादास में सुधार दिखाई दिया। आज कल के जमाने में लोग ये भी भूल जाते है की उन्हें डायरी भी लिखना है। इसके लिए आप अपने फोन में अलार्म लगा सकते है। 

इससे आप अपने स्मरण शक्ति बड़ा सकते है। रोज रात को सोने से पहले डायरी लिखे डायरी के लिए अलग पर्सनल कॉपी रखे ताकि और कोई न देख पाए इसलिए इसमें रीयल स्टोरी ही लिखे न झुटि बाते लिख के अपने वह वही जपे।

3. पानी पीना 

पानी वैसे तो पानी पीने के लाभ आपने कई सुने होंगे तो एक और सुनने में क्या हर्ज है। तो देखते है पानी पीने से भला हमारे स्मरण शक्ति में कैसे सुधार होगा। दरअसल बात यह है की पानी हमारे मस्तिष्क में 100 में से 80% की जरूरतों को पूरा करते है जब हम दिन भर यानी 24 घंटे में कम से कम 5 से 6 लीटर पानी पीने से हमारे मस्तिष्क काफी सक्रिय हो जाता है और याद रखने छमता भी बनी रहती है इससे लाभ 

हमारे शरीर को स्वस्थ बनाने में भी रखता है। पानी पीने में कोई परेशानी नही होनी चाहिए। पानी का असर सीधे हमारे मस्तिष्क में परता है। आज कल के जमाने में लोग एक नंबर को भी मोबाइल नोट करके रखते है कुछ हद तक ये सहिंभी है लेकिन इससे हमारे दिमाग भी काफी कमजोर हो जाता है। हमारा मस्तिस्क 80% पानी से बना होता है अगर हम रोजाना ऐसे पानी पीते रहेंगे तो हम अपनी कुछ कुछ याद रखने की पावर को बड़ा के रखेंगे।

4.  घर का भोजन 

अभी तक में हमने तीन चीजों के बाड़े में पड़ा जो हमारे स्मरण शक्ति को बड़ान में मदद करता है। पहले हमने  पड़ा मेडिटेशन और दूसरा हमने पड़ा डायरी लिखने से कैसे स्मरण शक्ति बढ़ती है और तीसरा जो हमने पड़ा की पानी पीने से कैसे हमारे मस्तिस्क को याद रखने में आसानी होती है। और अब हम पढ़ने वाले है की घर का भोजन हमारे स्वस्थ और स्मरण शक्ति में कैसे मदद करती है।

 घर का भोजन पड़ते ही आपके मन में घर के काफी पकवान या टेस्टी टेस्टी भोजन का फोटो आ गया होगा कुछ लोग जिसे घर का खाना अच्छा भी लगता उसके मन में अच्छी तस्वीर नही बनी होंगी। दोस्तो घर का भोजन जिसे हम खाते है उसमे अपने हाथो से कई मसाले अलग अलग तरह के और कई मेहनत से जब बना के जब हमे वो भोजन परोसती है तो कई लोगो को वो खाना बकवास लगता है लेकिन वही खाना उसके सही सलामत स्वास्थ रहने का राज रहता है। 

जो लोग कदर करते है वो तो ठीक ही है। जब हम घर का भोजन करते है तो हमारे शरीर में बाहरी मिलावट वाली खाने से बेहतर खाना खा रहे होते है। ये भोजन जब हम खाते है तो ये हमारे शरीर में सही तरह का प्रोटीन देती है। जिससे हमारे शरीर का सारा अंग सही सलामत काम करता है। खास कर के हमारा मस्तिस्क ये हमारे मस्तिस्क की ऊर्जा को और बड़ा देती है। जिससे हमे याद रखने में काफी मदद मिलती है। इससे हम जब पढ़ाई करते है तो उसे याद रखने में काफी परेशानी होती है। ऐसा करने से हमे याद पड़ी हुई चीज को याद करने में ज्यादा परेशानी नही होंगी।

 


Leave a Comment

Your email address will not be published.