Google play store ne kiya eight apps ko band, जानिए क्या थे इसके नुकसान

 यूजर्स को ठग रहे है ये ऐप्स 

आज हम बताने जाने वाले है। कुछ ऐसे ऐप्स जो कभी प्ले स्टोर में उपलब्ध थे लेकिन गूगल प्ले स्टोर ने ऐसे 8 ऐप्स को बंद किया क्यों किया और क्या कारण थे जो इस ऐप्स को बंद करना पड़ा उसके बारे में पड़ेंगे।

दरअसल ये ऐप्स एड की मदद से हर महीने यूजर से 1100 रुपए ले रहे थे। एंड्रॉयड ऐप्स की मदद से डेटा चोरी करने का काम कर रहे थे ये ऐप्स। ऐप्स को लेकर secuirty farm trend माइक्रो का कहना है की इन ये ऐप्स लोगो को नुकसान पहुंचा सकते है अगर ये एप आपके पास है तो तुरंत ही इसे डिलीट कर दे। नहीं तो आपको हानि पहुंचा सकते है। ये सभी ऐप्स यूजर की पर्सनल डिटेल चुराते है। जो की यूजर के लिए आगे जाकर काफी नुकसानदायक हो सकती है। इसलिए इन 8 ऐप्स को गूगल प्ले स्टोर ने बंद करने के लिए बहुत बड़ा फैसला उठाया। बन किए गए 8 ऐप्स क्रिप्टो करेंसी से रिलेटेड है। 

हर महीने कितने रुपए ले रहे है 

सिक्योरिटी फार्म ट्रेंड माइक्रो के रिपोर्ट द्वारा यह कहना है। इन सभी ऐप्स के जरिए हर महीने 1100 रुपए ले रहे थे ये ऐप्स एड दिखाने सब्सक्रिप्शन सर्विसेज के लिए हर महीने औसतन 15 डॉलर करीब 1100 रुपए पेमेंट करने जैसे कामों के साथ फसाया जा रहा था। ये ऐप्स आम लोगो को लूट रहे थे इन ऐप्स की मदद से कइयों के नुकसान कर रहे थे। इस ऐप्स को डाउनलोड करने के लिए यूजर्स को पैसे देने पड़ते थे। 

सिर्फ 1 साल में 4200 लोग प्रभावित 

सिक्योरिटी फर्म के रिपोर्ट के बाद गूगल ने अपने प्ले स्टोर से इन सभी 8 ऐप्स को हटाने का बहुत बड़ा फैसला लिया। एक्सपर्ट के द्वारा इस बात की भी पुष्टि की गई है। की ये सभी ऐप्स यूजर के लिए काफी नुकसानदायक हो सकती है इसे यानी इस ऐप्स को यूजर्स को तुरंत अपने स्मार्टफोन से हटा देना चाहिए। पूरी जांच परताल करने के बाद ऐसा आया है की अभी 110 से ज्यादा क्रिप्टो करेंसी माइनिंग ऐप्स ऑनलाइन उपलब्ध है। दुनियाभर में साल 2020 से 2021 तक में लगभग 4500 यूजर्स इसकी चपेट में आ चुके है। 

फोन पर साइबर अटैक हो तो सबसे पहले क्या करे 

हम सभी जानते है की भारत सरकार में फेमस साइबर सलाहकार डॉक्टर निशाकांत ओझा जो एक साइबर सलाहकार है उसका कहना है की ऐप्स या SMS की मदद से भी फोन पर साइबर होने का खतरा हमेशा रहता है। ज्यादातर ऐसे केस में हैकर्स अपना सबसे पहला दाव खेलता है जिसमे वह लिंक शेयर करते है, कई लोग हैकर्स के इस चाल को नहीं समझ पाते है जैसे ही लोग इस लिंक पर क्लिक करता है, तो मैलवेयर एक्टिवेट होकर आपके सिस्टम एक्सेस हैकर्स को दे देता है। एक्सपर्ट का कहना है कभी अगर आपको इसके बाड़े में ज्यादा जानकारी न हो तो आप अपने स्मार्टफोन के सिस्टम को तुरंत शटडाउन कर देना चाहिए। इससे कनेक्टिविटी ब्रेक हो जायेगी, लेकिन इससे कोई तरह का नुकसान नही पहुंचेगा। 

इस बात की गारंटी नही है, यदि किसी नौसखिया यानी जिसे इसके बाड़े में कुछ नही पता हो उसके साथ ऐसा हो तो उसे सबसे पहले बिना कोई झिझक के SIM निकाल के फेंक देना चाहिए। फिर उसे कुछ देर यानी कम से कम 10 से 15 सेकंड के बाद उसे फिर से ऑन करना चाहिए। वैसे इस तरह के फ्रॉड बाजी काफी देखने को मिली है। 

क्रिप्टो होलिक डेली बिटकॉइन रिवार्ड्स पैड ऐप्स 

क्रिप्टो होलीक बिटकॉइन क्लाउड माइनिंग की कीमत 12.99 डॉलर (यानी 965 रुपए) थी। जबकि डेली बिटकॉइन रिवार्ड्स की कीमत 5.99 डॉलर (करीब 445 रुपए) थी। ऐसे कई तरह के नकली क्रिप्तो करेंसी है जिससे यूजर्स को खास तरह से दूर होने के लिए सलाह दी जा रही है। जबकि ट्रेंड माइक्रो के मुताबिक इन 8 में से 2 ऐप्स पैड है। जिसके बाड़े में हमने अभी अभी बताया है। और अधिक जानकारी के लिए की ये ऐप्स सही है या गलत आप इनके रिव्यू को अच्छी तरह से देख ले आपकी गलत फहमी दूर हो जाएंगी।



  




Leave a Comment

Your email address will not be published.